Why Kundli Matching Is Important

Why Kundli Matching Is Important
आचार्य संदीप कटारिया एक प्रशिक्षित ज्योतिष विशेषज्ञ हैं और 25 सालो से वैदिक ज्योतिष, अंक ज्योतिष, लाल किताब आदि क्षेत्र में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। वह नौकरी, व्यवसाय, शिक्षा, प्रेम संबंध, वैवाहिक, स्वास्थ्य, तलाक, क़ानूनी झगडे आदि विषयों पर अनेक लोगों का अपने ज्योतिषीय ज्ञान और सुझावों से कल्याण कर चुके हैं। अधिक जानकारी के लिए click करे

भारतीय सभ्यता में विवाह से पहले वर और वधु की कुंडली में गुणों का मिलान कराने का रिवाज है और यह बहुत महत्वपूर्ण भी है| ऐसा इसलिए क्योकि यह मत है कि व्यक्ति के वैवाहिक जीवन पर ग्रहों के प्रभाव को भी कुंडली में दर्शाया गया है। इसलिए, कई परिवार विवाह से पहले कुंडली मिलान को अधिक महत्व देते हैं| इस लेख में शादी के लिए कुंडली मिलान और गुणों का महत्व यानी की Why Kundli Matching Is Important के बारे में विस्तार से जानेंगे |

अगर आप इस जानकारी को वीडियो के माध्यम से देखने देखना चाहते है तो यहाँ CLICK करे|

Why Kundli Matching Is Important

वैवाहिक जीवन में आना प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में एक बड़ा बदलाव लाता है इसलिए कुंडली मिलान दो व्यक्तियों के बीच अनुकूलता जानने के लिए कराया जाता है| कुंडली मिलान कराने से इस बात का वैदिक ज्योतिष के माध्यम से अच्छे से अनुमान लगाया जा सके कि वर और वधु का आगे चलकर वैवाहिक जीवन कैसा हो सकता है|

वैदिक ज्योतिष में इस बात का प्रावधान है की विवाह पूर्व वर वधु की कुंडलियों से उनके स्वभाव आदि के बारे में अनुमान लगाया जा सके| इसके लिए एस्ट्रोलॉजर कुंडली में गुणों का मिलान करते है |

विशवास करने वालों के लिए एक सफल और खुशहाल वैवाहिक जीवन के लिए पति-पत्नी के बीच पर्याप्त गुणों का मिलना बहुत जरुरी होता है| ज्योतिष विधि के द्वारा यह पता चलता है की वर और वधु की कुंडली आपस में मेल खाती भी है या नहीं|

कुंडली मिलान के 8 गुण

कुंडली मिलान के लिए वर और वधु की कुंडली, उसकी जन्मतिथि, जन्म का समय और जन्म स्थान के आधार पर बनाई जाती है| इस विधि के द्वारा विवाह के लिए कुंडली मिलान करते समय जन्म कुंडलियों में नक्षत्रों और राशियों की स्थिति के आधार पर 8 गुणों का मिलान किया जाता है|

और यह 8 गुण है:

  1. वर्ण : यह व्यक्ति के अहंकार को दर्शाता है | कुंडली मिलान के लिए सिर्फ एक अंक ही काफी होगा|
  2. वश्य : यह गुण जीवन साथी के साथ आपसी स्नेह और आकर्षण को दर्शाता है| और कुंडली मिलान के लिए 2अंक होते है|
  3. तारा / दिन: यह गुण विवाहित जोड़ों के स्वास्थ्य और उनकी मंगल कामना को दर्शाता है| और कुंडली मिलान के लिए 3 अंक होते है |
  4. योनी : यह गुण विवाहित जोड़ों में Biological compatibility और संतुष्टि को दर्शाता है| कुंडली मिलान के लिए 4 अंक होते है|
  5. ग्रह-मैत्री : यह गुण व्यक्ति के जीवन में उसके उद्देश्य, बौद्धिक स्तर और आध्यात्मिक पहलूओ आदि को दर्शाता है| कुंडली मिलान में इस गुण के 5 अंक होते है|
  6. गण : यह गुण व्यक्तित्व और व्यवहार आदि, जैसे तेज या नरम मिजाज जैसी विशेषताओं को दर्शाता है| अगर दृष्टिकोण और नजरिए मिलेंगे तो जीवन मधुर और आसान भी चलेगा | कुंडली मिलान के लिए इसके 6 अंक होते है|
  7. भकूट: व्यक्ति की कुंडली में यह गुण वित्तीय समृद्धि और परिवार के कल्याण के पहलुओं को दर्शाता है| शादी के उपरान्त दोनों के पेशे में कैसी बढ़ोतरी रहेगी इसका आंकलन इस गुण से होता है | कुंडली मिलान के लिए इसके 7 अंक होते है |
  8. नाड़ी : कुंडली मिलान के लिए यह आखिरी गुण है और इसके 8 अंक है इसलिए यह सबसे अधिक महत्वपूर्ण भी माना जाता है| यह गुण व्यक्ति की बाहरी उपस्थिति और स्वास्थ्य को दर्शाता है|

इन 8 मापदंडों का कुल योग 36 होता है और ज्योतिष में इसे 36 गुण कहा जाता हैं| यह मापदंड वर वधु की कुंडली मिलान में संतुलन का काम करता है| जब ज्योतिषी दो कुंडलियों का मिलान करता है तो विवाह के योग्य कम से कम 18 -25 गुणों को विवाह योग्य माना जाता है| 18 गुणों से कम का मिलना विवाह के लिए शुभ नहीं माना जाता है| कुंडली में 25 से 32 गुण मिल जाते हैं तो यह विवाह के लिए अच्छा माना जाता है|अगर कुंडली में 32 से 36 गुण मिल जाते हैं तो यह उत्तम और विवाह के लिए सफल माना जाता है|

ये थे कुछ तथ्य, विवाह पूर्व कुंडली मिलान के बारे में| अब इन पर विशवास करना या ना करना पूरी तरह से आपकी मर्जी है|

निष्कर्ष

ऐसा मानना है की कुंडली मिलान में वर-वधू की कुंडली में मंगल दोष भी प्रभाव डाल सकता है| मंगल दोष के बारे में और वैवाहिक जीवन से संबंधित मुद्दों पर हमारे कुछ लेख भी आप पड़ सकते है ज्योतिष में कुंडली मिलान अधिकतर संतोषजनक माना गया है। हालांकि, आपको विशेष रूप से कोई संदेह होता है कि किसी एक पक्ष की कुंडली में कुछ दोष है या विवाह में अमंगल हो सकता है, तो एक विशेषज्ञ और ज्ञानी ज्योतिष से कुंडली परामर्श करना उचित है।

Video: Importance of Kundali Milan Guna Milan Horoscope Matching शादी के लिए कुंडली मिलान गुणों का महत्व

ज्योतिष आचार्य संदीप कटारिया से अपनी कुंडली का विश्लेषण और परामर्श करने के लिए समय लेने के लिए संपर्क करें:
Phone : +91 011 43022692 and +91 011 43022693 Mobile: +91 9873372726
कार्यालय में संपर्क करने का समय सुबह 10:00 से शाम 6:00 तक सोमवार से शनिवार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *